Metro Plus News
फरीदाबादहरियाणा

सत्तारूढ़ दल के मंत्री, सांसद व विधायकों के खिलाफ अभिभावक एकता मंच ने मोर्चा खोला

22 फरवरी को होगी अभिभावकों की महा-पंचायत
नवीन गुप्ता/सोनिया शर्मा
फरीदाबाद, 18 फरवरी: नियमों का उल्लंघन करके छात्र व अभिभावकों का आर्थिक व मानसिक शोषण कर रहे निजी स्कूल व कॉलेजों के कार्यक्रमों में सत्तारूढ़ दल के मंत्री, सांसद व विधायकों के शामिल होने पर हरियाणा अभिभावक एकता मंच ने विरोध प्रकट किया है। मंच का कहना है कि यह अभिभावकों के जख्मों पर नमक छिड़कने के समान है।
मंच के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट ओपी शर्मा व प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा ने कहा है कि मंच की जिला कमेटी द्वारा केन्द्रीय मंत्री व फरीदाबाद के सांसद कृष्णपाल गुर्जर व विधायक विपुल गोयल, सीमा त्रिखा, मूलचन्द शर्मा, टेकचन्द शर्मा, ललित नागर को ज्ञापन व मांगपत्र सौंपकर उन्हें जानकारी दी गई थी कि किस प्रकार निजी स्कूल प्रबंधक सरेआम नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं और सीबीएसई व हुडा विभाग ने उनको नोटिस भी जारी किए हैं। उसके बावजूद इनका निजी स्कूलों के कार्यक्रमों में जाना यह साबित करता है कि ये पूरी तरह से निजी स्कूलों की सशक्त लाबी के साथ हैं और जिन गरीब और मध्यम अभिभावकों ने इन्हें अपना कीमती वोट देकर विजयी बनाया उनका अपमान कर रहे हैं। स्कूलों व नेताओं की आपसी सांठ-गांठ की जानकारी मंच द्वारा रविवार 22 फरवरी को आयोजित की जा रही अभिभावक पंचायत में विस्तार से अभिभावकों को प्रदान की जाएगी। मंच की ओर से इन सभी को एक विरोध पत्र भी भेजा गया है। मंच ने इन सभी जन-प्रतिनिधियों से पुन: कहा है कि वे अभिभावक पंचायत से पहले शिक्षा के व्यवसायीकरण के ऊपर अपने विचार सार्वजनिक तौर से प्रकट करें। मंच ने स्थानीय आम आदमी पार्टी के स्थानीय नेताओं से कहा है कि वे इस विषय पर अभिभावकों का खुलकर साथ दें और अभिभावक पंचायत में भाग लेकर अपने विचार प्रकट करें।
मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा ने कहा है कि हरियाणा में भाजपा की सरकार बनने के बाद मंच को यह लगा था कि अब अभिभावकों के अच्छे दिन आ जाएंगे, लेकिन देखा गया है कि अच्छे दिन तो आए हैं लेकिन वे स्कूल, कॉलेज व प्रबंधकों के आए हैं। मंच द्वारा ‘जागो अभिभावक जागोÓ अभियान के तहत जो जन-संपर्क अभियान चलाया जा रहा है उसमें भी अभिभावकों ने जानकारी दी है कि स्कूल प्रबंधक अपनी स्मारिका व स्कूल में लगे चित्रों में इन नेताओं के अपने स्कूल में आने के सचित्र फोटो प्रकाशित करके छात्रों व अभिभावकों को यह दर्शाने की कोशिश करते हैं कि उन्हें प्रत्येक सत्तारूढ़ दल के नेताओं का संरक्षण हमेशा प्राप्त होता रहा है। इसी के चलते वे किसी को कुछ नहीं समझते और सरेआम नियमों का उल्लंघन करके अभिभावकों के साथ लूट-खसौट व मनमानी मचाए हुए हैं। जिले के अधिकारी भी फिर चाहकर भी निजी स्कूल प्रबंधकों के खिलाफ कोई भी ठोस कार्यवाही नहीं कर पाते हैं। अत: अब नेताओं व स्कूल प्रबंधकों के नापाक गठजोड़ को समाप्त किया जाएगा।
मंच के जिलाध्यक्ष एडवोकेटे शिवकुमार जोशी ने बताया है कि मंच टीम ने मंगलवार और बुधवार को एमवीएन व मॉडर्न सेक्टर-17, एपीजे, डीपीएस सेक्टर-19 व ग्रेटर फरीदाबाद, होली चाइल्ड, सेंट थॉमस, सेंट जॉन्स, सेंट कोलंबस, अग्रवाल व टेगौर पब्लिक स्कूल, डीएवी स्कूल के अभिभावकों से संपर्क करके उन्हें बताया कि निजी स्कूलों द्वारा की जा रही लूट-खसौट व मनमानियों पर पूरी तरह से रोक लगवाने के लिए अभिभावकों की एक पंचायत 22 फरवरी को सेक्टर-19 ओल्ड फरीदाबाद स्थित आर्य समाज मंदिर में सुबह 10 बजे आयोजित की जा रही है जिसमें वे शामिल होकर अपने सुझाव व विचार प्रकट करें। अभिभावकों ने अभियान में रूचि दिखाते हुए मंच के पदाधिकारियों को बताया कि वे निजी स्कूलों की मनमानी के शिकार हो रहे हैं और वे भी चाहते हैं कि इस पर रोक लगे। इस कार्य के लिए वे मंच का पूरा साथ देंगे और पंचायत में बढ़-चढ़कर भाग लेंगे।

Related posts

..जब बजरंग बीकानेर के समोसे व पकोड़ों में से निकले कीड़े व गंदगी

Metro Plus

फिल्म अभिनेता धर्मेंद्र के भाई की तस्वीर पर रामबिलास शर्मा ने किए पुष्प अर्पित

Metro Plus

भगवती की शाश्वत भक्ति ही है शांति का राजमार्ग: साध्वी अदिति भारती

Metro Plus