Metro Plus News
एजुकेशनफरीदाबादहरियाणा

Manav Rachna में दंत चिकित्सा विषय पर संगोष्ठी और कार्यशाला का आयोजन किया गया

Metro Plus से Naveen Gupta की रिपोर्ट।
Faridabad News, 6 दिसंबर:
मानव रचना डेंटल कॉलेज एंड हॉस्पिटल की ओर से विश्व विकलांगता दिवस पर सिल्वर डायमाइन फ्लोराइड एसडीएफ पर एक संगोष्ठी और कार्यशाला का आयोजन हुआ। फेडरेशन ऑफ स्पेशल हेल्थ केयर डेंटिस्ट्री एफएससीडी के सहयोग से आयोजित हुए इस कार्यक्रम का उद्वेश्य विशेष स्वास्थ्य देखभाल आवश्यकताओं वाले रोगियों की मौखिक देखभाल को पूरा करना रहा।
कार्यक्रम में सम्मानित अतिथि के तौर पर डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया के कार्यकारी सदस्य झारखंड राज्य डेंटल काउंसिल के अध्यक्ष और आईडीए झारखंड शाखा के राज्य सचिव डॉ० विवेक कुमार सिंह पहुंचे थे। वहीं अन्य अतिथियों में एफएससीडी अध्यक्ष डॉ० श्रीनिवास नैमेनेनी, एफएससीडी सचिव डॉ० प्रिया वर्मा, एफएससीडी कोषाध्यक्ष डॉ० ज्ञानेंद्र कुमार, प्रिंसिपल सुधा रस्तोगी डेंटल कॉलेज डॉ० सीएम मार्या शामिल रहे। एमआरडीसी प्रिंसिपल प्रोफेसर और प्रमुख ऑर्थोडॉन्टिक्स और डेंटो फेशियल ऑर्थोपेडिक्स डॉ० पुनीत बत्रा ने सभी अतिथियों के साथ मिलकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

डॉ० पुनीत बत्रा ने सभी अतिथि और वक्ताओं का स्वागत करते हुए विशेष स्वास्थ्य देखभाल आवश्यकताओं वाले रोगियों की देखभाल में दंत विशेषज्ञों के महत्व पर विचार रखे। इसके बाद मुख्य अतिथि डॉ० विवेक सिंह ने अपने संबोधन में विशेष स्वास्थ्य देखभाल आवश्यकताओं वाले रोगियों की मौखिक स्वास्थ्य देखभाल के बारे में समाज में जागरूकता लाने के लिए ऐसे आयोजनों को जरूरी बताया। साथ ही विकलांग लोगों के सामने आने वाली चुनौतियों के बारे में चर्चा करते हुए संस्थान की इस पहल को सराहा।
संगोष्ठी में देश के 25 कॉलेजों से छात्र और फैकल्टी सदस्यों सहित दुबई, नेपाल, बांग्लादेश, कुवैत और अबु धाबी से ऑनलाइन और ऑफ लाइन तकरीबन 400 प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता रहे डॉ० मीनाक्षी खेर और डॉ० मुकुल जैन ने अतिथि व्याख्यान में विशेष मौखिक स्वास्थ्य देखभाल आवश्यकताओं वाले रोगियों के इलाज में एसडीएफ के महत्व पर जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सिल्वर डायमाइन फ्लोराइड एक ऐसी दवा है जिसका उपयोग दंत क्षय के इलाज और रोकथाम के लिए किया जाता है और ये दवा विशेष स्वास्थ्य देखभाल की आवश्यकता वाले लोगों के लिए बेहद लाभकारी है।

इसके बाद विशेष स्वास्थ्य देखभाल आवश्यकता वाले मरीजों और एसडीएफ विषय पर एक पैनल चर्चा हुई। जिसमें डॉ० श्रीनिवास नैमेनेनी, डॉ० मीनाक्षी खेर, डॉ० मुकुल जैन और डॉ० शिव कुमार नुव्वुला ने विचार रखे।

इस दौरान आयोजित हुई कार्यक्रम शाला में दांतों पर एसडीएफ के अनुप्रयोग पर जानकारी दी गई। इस दौरान एमआरडीसी के बाल चिकित्सा और निवारक दंत चिकित्सा विभाग में स्थापित कॉन्शियस सेडेशन क्लिनिक का उद्वघाटन भी किया गया।

Related posts

एसआरएस ग्रुप ने एर्फोडेबल हाऊसिंग प्रोजक्ट के आवंटन का ड्रा निकाला: 816 लोगों को किया गया फ्लैटों का आवंटन

Metro Plus

LIC के इंश्योरेंस और विभिन्न सरकारी सेवाओं का लाभ दिलाने के नाम पर करोड़ों रुपये हड़पने वाली गैंग का भंडाफोड़

Metro Plus

ग्राहक दिवस के अवसर पर ग्राहक जागरूकता सप्ताह का आयोजन

Metro Plus