Metro Plus News
फरीदाबादराजनीतिहरियाणा

हरियाणा में दम तोड़ता नजर आ रहा है चुनावों में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण/टिकट देने का प्रधानमंत्री मोदी का सपना!

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की खास रिपोर्ट।
चंडीगढ़/फरीदाबाद, 4 अक्टूबर:
चुनावों में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण/टिकट देने का प्रधानमंत्री मोदी का सपना हरियाणा में तो दम तोड़ता नजर आ रहा है। प्रदेश सरकार द्वारा तीन जिलों की जारी ग्रीवेंस कमेटी की लिस्ट को तो देखकर तो कम से कम ऐसा ही प्रतीत हो रहा है। इस लिस्ट को देखकर लग रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली जिस केन्द्र सरकार ने चुनावों में महिलाओं को 50 प्रतिशत टिकट देने का आरक्षण बिल लोकसभा व राज्यसभा में बहुमत से पास करवाया, वो हरियाणा में शायद ही लागू हो पाए।

बता दें कि प्रदेश सरकार ने फरीदाबाद, सोनीपत और करनाल जिले की जिला कष्ट एवं शिकायत निवारण समिति यानि ग्रीवेंस कमेटी की एक जम्बो लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट के मुताबिक फरीदाबाद से 54, सोनीपत से 70 और करनाल से 72 लोगों को ग्रीवेंस कमेटी का मेंबर बनाया गया है।

आगामी चुनावों के मद्देनजर जारी की गई ग्रीवेंस कमेटी की इस जम्बो लिस्ट में भाजपा नेताओं, कार्यकर्ताओं तथा सांसद व विधायक के समर्थकों सहित पार्टी में आस्था रखने वाले लोगों को स्थान दिया गया है।

बता दें कि स्वयं मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के चेयरमैनशिप वाली फरीदाबाद की ग्रीवेंस कमेटी की जिस लिस्ट में मुख्यमंत्री के राजनैतिक सलाहकार रहे अजय गौड़, पार्टी के प्रदेश संगठन मंत्री रहे संदीप जोशी, भाजपा के जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा एडवोकेट, पूर्व वरिष्ठ उप-महापौर देवेन्द्र चौधरी, महिला विंग की जिला अध्यक्षा श्रीमति राजबाला सरदाना, जिला संगठन मंत्री मूलचंद मित्तल, इनेलो के जिला अध्यक्ष रहे आरके चिलाना, वजीर सिंह डागर सहित फरीदाबाद जिले के 54 लोगों को स्थान दिया गया है। उसमें नवल किशोर गर्ग एडवोकेट नामक एक नाम तो दो बार गया है जिससे ये लिस्ट 54 की बजाए 53 लोगों की ही रह गई है।

वहीं पार्टी की युवा विंग यानि भाजयुमो के जिला अध्यक्ष पंकज सिंगला उर्फ गौरव सिंगला का नाम इस लिस्ट में से नदारद है जिनको जिला अध्यक्ष के पद से हटाने की मुहिम भी जिले में जोर-शोर से चल रही है जिसके चलते पार्टी के सांसद, विधायकों व संगठन के जिला अध्यक्ष के बीच 24 सितंबर की कोर कमेटी की मीटिंग में भी काफी नोंकझोक हो चुकी है। इसका खुलासा मैट्रो प्लस अपनी दूसरी खबर में विस्तार से करने जा रहा है।

अब बात करें हम महिलाओं को चुनावों में 50 प्रतिशत का आरक्षण देने का बिल पास होने के बाद उस पर अमल करने की तो फिलहाल जिन 53 लोगों के नाम इस लिस्ट के माध्यम से जारी किए गए हैं, उनमें मात्र चार महिला नेत्रियों के नाम ही शामिल हैं जिनके नाम गायत्री कौशिक एक नंबर पर, श्रीमति राजबाला सरदाना 13 नंबर पर, श्रीमति किरण सौरोत 31 नंबर पर और श्रीमति नीरा तोमर 46 नंबर पर हैं। ये चारों नाम कुल लिस्ट का 10 प्रतिशत भी नहीं है, 50 प्रतिशत तो बहुत दूर की बात है।
इसके प्रकार सोनीपत जिले की 70 सदस्यीय ग्रीवेंस कमेटी तथा सीएम सिटी करनाल जिले की 72 सदस्यीय ग्रीवेंस कमेटी में भी मात्र चार-चार महिलाओं को ही कमेटी का मेंबर बनने का सौभाग्य मिला है।

इस लिस्ट को देखकर लगता है कि केन्द्र व प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा में या तो महिला नेता नहीं हैं या फिर वो आगे नहीं आना चाहतीं जिसकी संभावना कम ही है। यदि यही हाल चुनावों में टिकट बांटने के दौरान रहा तो हरियाणा की विधानसभा कर 90 सीटों में से मात्र 7-8 महिलाओं को ही पार्टी की टिकट मिल पाएगी।

ऐसे में प्रदेश सरकार से कैसे उम्मीद की जा सकती कि वो चुनावों में प्रधानमंत्री मोदी के सपने को पूरा करते हुए उस महिला आरक्षण बिल के तहत प्रदेश की 90 में से 45 सीटों पर महिलाओं को चुनाव लड़वा पाएगी। ये प्रधानमंत्री मोदी के सपने को चकनाचूर करने जैसे ही होगा।

Related posts

छात्रवृति योजनाओं का लाभ उठाएं दिव्यांग छात्र: डीसी विक्रम

Metro Plus

निगमायुक्त यशपाल का दावा, जनता के सहयोग से 31 मार्च तक फरीदाबाद को बना देंगे कचरा और गार्बेजमुक्त सिटी

Metro Plus

कोर्ट के चक्करों से बचने और ट्रैफिक चालान से सस्ते में छुटकारा पाने के लिए पढ़े पूरी खबर!

Metro Plus