Metro Plus News
फरीदाबादराजनीतिहरियाणा

सट्टा किंग राजेश भाटिया: रस्सी जल गई पर बल नहीं गए

एनआईटी क्षेत्र मे हैं जश्र का माहौल: व्यापारियों की मनेगी दिवाली
नवीन गुप्ता
फरीदाबाद, 24 अक्तूबर:
रस्सी जल गई पर बल नहीं गए, यह कहावत एनआईटी क्षेत्र में सट्टा किंग के नाम से मशहूर राजेश भाटिया पर एकदम सटीक बैठती है। प्रशासन द्वारा श्री सिद्वपीठ हनुमान मंदिर से बाहर का रास्ता दिखाए जाने के बाद भी राजेश भाटिया की हेंकड़ी गई नहीं है। राजेश भाटिया अभी भी अपने आपको मंदिर का प्रधान मानता है, जबकि देखा जाए तो वास्तव में वह कभी भी मंदिर का प्रधान था ही नहीं। वह तो जबरन मंदिर पर कब्जा करके बैठा था। यहां तक की अदालत भी उसके प्रधानी के दावे को खारिज कर चुकी है।
जी हां, हम बात कर रहे हैं राजनैतिक परिवार से संबंध रखने वाले श्री सिद्वपीठ हनुमान मंदिर एनएच-1 के कथित प्रधान राजेश भाटिया की, जिसके आतंक के कारण एनआईटी का व्यापारी वर्ग पिछले काफी समय से आतंकित था। एनआईटी क्षेत्र में सट्टे का कारोबार करने वाला सट्टा किंग के नाम से मशहूर राजेश भाटिया जिस तरीके से एक नंबर की मेन मार्किट में स्थित श्री सिद्वपीठ हनुमान मंदिर पर अदालत के आदेशों के बावजूद भी जबरन कब्जा किए बैठा था, उससे उसकी गुंडागर्दी साफ नजर आती थी। लेकिन उसकी गुंडागर्दी ज्यादा नहीं चल पाई और सरकार के आदेशों के बाद जिला प्रशासन ने उसे मंदिर से निकाल कर बाहर पटक दिया और मंदिर पर कब्जा कर वहां सिटी मजिस्ट्रेट गौरव आंतिल को प्रशासक नियुक्त कर बैठा दिया। इसलिए राजेश भाटिया जबरन कब्जाई हुई कुर्सी छिनने के बाद अब भी ऐसे तड़प रहा है जैसे बिन पानी के मछली तड़पती है।
प्रशासन की इस सारी कार्यवाही के बाद अगर वास्तव में किसी के दिलों में इस बार खुशी की लहर है तो वे हैं एनआईटी क्षेत्र के वे व्यापारी, जोकि श्री सिद्वपीठ हनुमान मंदिर एनएच-1 की दशहरा पर्व मनाने के लिए जबरन काटी जाने वाली पर्चियों या कहिए उगाही के कारण दु:खी थे। ऐसे लोगों के लिए इस बार के दशहरे ने जोकि वह नहीं मना पाया, वास्तव में उनको अच्छी दिवाली मनवाने वाला काम किया है। और ऐसा हुआ है श्री सिद्वपीठ हनुमान मंदिर एनएच-1 के प्रधान जोगेन्द्र चावला की मेहनत और जिला प्रशासन की निष्पक्ष कार्यवाही के कारण।
जो भी हो, यह मामला एनआईटी क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। क्रमश:-

श्री सिद्वपीठ हनुमान मंदिर एनएच-1 के कथित प्रधान राजेश भाटिया ने कैसे ओर किन्हें मोटी पगड़ी लेकर दी मंदिर की दुकानें किराए पर, पढि़ए अगले समाचारों में………..

एनआईटी क्षेत्र में सट्टा किंग के नाम से मशहूर राजेश भाटिया को पुलिस अधीक्षक रहे श्रीकांत जाधव ने सट्टा खिलाने के आरोप में किस प्रकार बालों से घसीटकर किया था कोतवाली थाने में बंद?, पढि़ए अगले समाचार में………..

Related posts

होली का त्यौहार देता है भाईचारे व एकता का संदेश: राजेश भाटिया

Metro Plus

फरीदाबाद के सरकारी कॉलेजों में बढ़ाई जाएंगी 20 परसेंट सीटें: राजेश नागर

Metro Plus

उपायुक्त यशपाल ने साइकिल चलाकर फरीदाबाद के नागरिकों को जल संरक्षण का संदेश दिया।

Metro Plus